UCO Bank

विदेशी मुद्रा ऋण

क) भारत में (विदेशी मुद्रा अनिवासी “बी” ऋण) :

भारतीय रिजर्व बैंक की अनुमति के रूप भारत में विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में ऋण, विदेशी मुद्रा अनिवासी (बी) जमा इत्यादि खातों में बैंक की विदेशी मुद्रानिधियों के भंडार से स्वीकृत किए जाते हैं |

यूको बैंक के पास अनिवासी भारतीय ग्राहकों / जमाकर्ताओं का व्यापक आधार है | इसलिए यूको बैंक भारत में अपने ग्राहकों को विदेशी मुद्रा अनिवासी (बी) जमाराशियों इत्यादि के संसाधन-आधार से रूपये में विकल्प में विदेशी मुद्रा में ऋण मुहैया कराने की स्थिति में है |

ये ऋण यूएस डॉलर जैसे विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में होते हैं और अल्पावधि ऋण के रूप में दिए जाते हैं | इन पर लंदन अंतर-बैंक प्रस्तावित दर (एल.आई.बी.ओ.आर) पर यथोचित व्याप्ति के साथ ब्याज निर्धारित किया जाता है |

यूको बैंक भारतीय शाखाओं में मौजूद अनिवासी भारतीयों की उनकी एफ.सी.एन.आर (बी) जमाराशियों के एवज में उनको भी विदेशी मुद्रा में भी ऋण देता है | इसका ब्योरा एन.आर.आई बैंकिंग खण्ड में उपलब्ध है |

ख) भारत से बाहर

विश्व के दो प्रमुख वित्तीय केंद्रों में अपनी उपस्थिति से यूको बैंक के पास भारतीय के साथ ही बहुराष्ट्रीय कंपनियों के लिए भी प्रतिस्पर्धी दरों पर विदेशी मुद्रा ऋण का इंतजाम करने / मंजूरी देने के लिए विदेशी मुद्रा के संसाधन हैं |

भारत सरकार / भारतीय रिजर्व बैंक की बाह्य वाणिज्यिक उधार (ई.सी.बी) नीति के अनुसार हमारी विदेशी शाखाओं द्वारा भारतीय कंपनियों को विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में ऋण मंजूर किए जाते हैं |

top

यूको में नया-नया :
यूको बैंक ने ऐसे व्यक्तियों को ऋण सुविधा प्रदान करने के लिए यूको कौशल ऋण योजना शुरू की है, जो कौशल विकास पाठ्यक्रमों को शुरू करना चाहते हैं। | अखंडता वचन - सीवीसी पहल | प्रतिभूति बाजार में कारोबार करते समय केवाईसी एक बार की जानी वाली प्रक्रिया है - सेबी द्वारा पंजीकृत मध्यस्थ (दलाल, डीपी, म्युचुअल फंड आदि) द्वारा एक बार केवाईसी की प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात, जब आप अन्य मध्यस्थ से संपर्क करते है तो आपको पुनः इस प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा। | बंद करें - अपने डीमैट खाते से अनधिकृत लेदेन पर रोक लगाने के लिए - अपने निक्षेपागार (डिपोजिटरी)सहभागी के साथ अपनी मोबाइल नम्बर को अद्यतन करें । डीमैट खाते से होनेवाले सभी नामे एवं अन्य महत्वपूर्ण लेन देन की अलर्ट अपने पंजीकृत मोबाइल पर उसी दिन सीधे एनएसडीएल से प्राप्त करें । (निवेशकर्ता के हित में जारी ) | बंद करें - आईपीओ को सब्स्क्राईब करते समय निवेशकर्ता को चेक जारी करने की आवश्यकता नहीं है । आवंटन की स्थिति में भुगतान करने के लिए अपने बैंक को अधिकृत करने हेतु केवल आवेदन फार्म में खाता संख्या लिख कर हस्ताक्षर करें । चूंकी रकम निवेशक के खाते में ही रहती है अतः रकम वापसी के चिंता की कोई बात नहीं है। |
© 2016 सर्वाधिकार सुरक्षित