UCO Bank

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स नीति

खाता कौन खोल सकता है ?

कॉरपोरेट गवर्नेंस के मानदंडों के एक हिस्से के रूप में, यूको बैंक के निदेशक मंडल ("बोर्ड") के स्टॉक एक्सचेंजों के साथ दर्ज किए गए लिस्टिंग समझौते के क्लॉज 49 के तहत, संबंधित पार्टी और लेनदेन के संबंध में निम्न नीति और प्रक्रियाओं को अपनाया जाएगा । हालाँकि, भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के सुझाव के अनुसार, बैंक इस सूची के समझौते के खंड 49 के प्रावधानों का अनुपालन करेगा, जब तक कि वह संबंधित विधियों और दिशानिर्देशों या निर्देशों का उल्लंघन नहीं करता है, जो कि बैंक के नियामक अधिकारियों द्वारा जारी किए गए हैं। चूंकि बैंक कंपनी अधिनियम के तहत एक कंपनी नहीं है, अपितु बैंकिंग कंपनियों (उपक्रमों के अधिग्रहण और हस्तांतरण) अधिनियम, 1970 के तहत एक निकाय कॉर्पोरेट का गठन किया जाता है और इसे भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित किया जाता है।

पॉलिसी बैंक और उसके संबंधित पक्षों के बीच लेनदेन को विनियमित करने के लिए तैयार की गई है जो बैंक पर लागू कानूनों और दिशानिर्देशों के आधार पर है। बोर्ड की ऑडिट कमेटी समय-समय पर इस नीति की समीक्षा करेगी।

"आर्म्स लेंथ ट्रांजेक्शन" "आर्म लेंथ ट्रांजेक्शन" का अर्थ है दो संबंधित पक्षों के बीच एक लेन-देन जो इस तरह संचालित किया जाता है जैसे कि वे असंबंधित हों, ताकि हितों का टकराव न हो।

"एसोसिएट" का मतलब एक उद्यम है जिसमें बैंक का महत्वपूर्ण प्रभाव होता है और जो न तो सहायक है और न ही बैंक का संयुक्त उद्यम है।

"बोर्ड की लेखा परीक्षा समिति (ACB)" ACB का अर्थ है भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के दिशानिर्देशों के अनुसार निदेशक मंडल द्वारा गठित बोर्ड की एक समिति।

"बोर्ड" का अर्थ है बैंकिंग कंपनियों की धारा 9 (3) के संदर्भ में बैंक के निदेशक मंडल (उपक्रमों का अधिग्रहण और हस्तांतरण) अधिनियम, 1970।

"नियंत्रण"-

  1. स्वामित्व, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से, एक उद्यम की मतदान शक्ति के आधे से अधिक या
  2. एक उद्यम के निदेशक मंडल की संरचना का नियंत्रण
  3. मतदान और सत्ता में पर्याप्त रुचि, किसी उद्यम की वित्तीय और / या परिचालन नीतियों को, क़ानून या समझौते द्वारा निर्देशित करने की शक्ति।

"संयुक्त उद्यम" का अर्थ है एक संविदात्मक व्यवस्था जिससे दो या दो से अधिक दल एक आर्थिक गतिविधि करते हैं, जो संयुक्त नियंत्रण के अधीन है।

"मुख्य प्रबंधकीय कार्मिक (केएमपी)" का अर्थ उन व्यक्तियों से है जिनके पास बैंक की गतिविधियों के नियोजन, निर्देशन और नियंत्रण के लिए प्राधिकरण और उत्तरदायित्व है। RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार, मुख्य प्रबंधकीय कार्मिक बैंक के पूर्णकालिक निदेशक होते हैं।

"मटेरियल रिलेटेड पार्टी ट्रांज़ैक्शन" का अर्थ किसी संबंधित पार्टी के साथ लेन-देन होता है, अगर किसी वित्तीय वर्ष के दौरान लेन-देन को व्यक्तिगत रूप से दर्ज किया जाता है या पिछले लेनदेन के साथ लिया जाता है, तो पिछले बैंक के ऑडिट किए गए वित्तीय विवरणों के अनुसार बैंक के वार्षिक समेकित व्यवसाय का दस प्रतिशत से अधिक होता है।

"नीति" का अर्थ है रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स नीति।

"संबंधित पक्ष" -पार्टीज़ को संबंधित से संबंधित माना जाता है यदि रिपोर्टिंग अवधि के दौरान किसी भी समय एक पक्ष दूसरे पक्ष को नियंत्रित करने या वित्तीय और / या परिचालन निर्णय लेने में दूसरे पक्ष पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालने की क्षमता रखता है।

RBI परिपत्र के अनुसार DBOD.NO.BP.BC.89 / 21.04.018 / 2002-03 दिनांक 29.03.2003, बैंक के लिए संबंधित पक्ष इसके पैरेंट्स, सहायक, सहयोगी / संयुक्त उद्यम, प्रमुख प्रबंधकीय कार्मिक और उसके सहयोगी हैं।

"रिलेटव" का अर्थ है आरबीआई अधिनियम, 1934 की धारा 45S के तहत परिभाषित रिश्तेदार और उसी के तहत निम्न है: (ए) एक व्यक्ति को दूसरे, यदि और केवल, यदि - (i) के सापेक्ष माना जाएगा एक हिंदू अविभाजित परिवार के सदस्य या (ii) वे पति और पत्नी हैं; या (iii) नीचे दिए गए रिश्तेदार की सूची में दिए गए तरीके से दूसरे से संबंधित है: -

  1. पिता जी
  2. माँ (सौतेली माँ सहित)
  3. बेटा (सौतेले बेटे सहित)
  4. बेटा; पत्नी
  5. बेटी (सौतेली बेटी सहित)
  6. पिता के पिता
  7. पिता की मां
  8. मॉन्थर की माँ
  9. नाना
  10. पुत्र का पुत्र
  11. बेटे के बेटे की पत्नी
  12. बेटे की बेटी
  13. बेटे की बेटी का पति
  14. बेटी का पति
  15. बेटी का बेटा
  16. बेटी के बेटे की पत्नी
  17. बेटी की बेटी
  18. बेटी की बेटी का पति
  19. भाई (सौतेले भाई सहित)
  20. भाभी
  21. बहन (सौतेली बहन सहित)
  22. बहन का पति

"महत्वपूर्ण प्रभाव" का अर्थ किसी उद्यम के वित्तीय और / या परिचालन नीति निर्णयों में भागीदारी है, लेकिन उन नीतियों का नियंत्रण नहीं।

"सबसिडरी" का अर्थ है कंपनी:

जिसमें बैंक अपने स्वयं के शेयर पूंजी के नाममात्र मूल्य में एक या आधे से अधिक या एक या अधिक सहायक कंपनियों के माध्यम से या तो रखता है; या

जिनमें से बैंक स्वयं और / या एक या अधिक सहायक कंपनियों के माध्यम से अपने निदेशक मंडल की संरचना को नियंत्रित करता है।

"सरकारी कंपनी" का अर्थ है कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 2 (45) में परिभाषित सरकारी कंपनी।

top

संबंधित पार्टियां :

भारतीय रिजर्व बैंक के अपने परिपत्र संख्या DBOD.NO.BP.BC.89/21.04.018/2002-03 dated 29.03.2003 के माध्यम से बैंकों को निर्देशित किया है कि संबंधित पक्ष इसके पैरेंट्स, सहायक, सहयोगी / संयुक्त उद्यम, प्रमुख प्रबंधकीय कार्मिक और उसके सहयोगी हैं।

  • पेरेंट
  • सहायक
  • सहयोगी / संयुक्त उद्यम
  • मुख्य प्रबंधन कार्मिक (के एम पी)
  • केएमपी के सहायक

वर्तमान में हमारे बैंक की कोई सब्सिडरी नहीं है। हमारे बैंक द्वारा प्रायोजित बिहार ग्रामीण बैंक और पश्चिम बंगाल ग्रामीण बैंक को हमारे बैंक के सहयोगी के रूप में माना जाता है। मुख्य प्रबंधकीय कार्मिक (केएमपी) में केवल हमारे बैंक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक और कार्यकारी निदेशक शामिल हैं।

संबंधित पक्ष के लेन-देन का प्रकार

भारतीय रिज़र्व बैंक के मास्टर सर्कुलर DBOD.BP.BC.No.8 / 21.04.018 / 2014-15 की दिनांक के अनुसार 1 जुलाई, 2014- वित्तीय विवरणों में प्रकटीकरण - खातों का लेखा-जोखा (लेखा मानक 18) निम्नलिखित लेनदेन को कवर किया जाएगा :-

  • ऋण
  • जमा
  • जमा स्थानन
  • अग्रिम
  • निवेश
  • गैर-वित्त पोषित प्रतिबद्धताओं
  • पट्टे / एचपी की व्यवस्था का लाभ उठाया गया
  • पट्टे / एचपी व्यवस्था प्रदान की गई
  • अचल संपत्तियों की खरीद
  • अचल संपत्तियों की बिक्री
  • ब्याज भुगतान
  • ब्याज प्राप्त किया
  • सेवाओं का प्रतिपादन
  • सेवाओं की प्राप्ति
  • प्रबंधन अनुबंध

संबंधित पक्ष के लेनदेन जिसे कवर नहीं किया जाना है :

निम्नलिखित प्रकार के रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स को सूची समझौते के खण्ड 49 के प्रावधानों की प्रयोज्यता से मुक्त किया गया है और तदनुसार ये लेनदेन नीति के दायरे से बाहर हैं।

  • दो सरकारी कंपनियों के बीच किया गया लेनदेन
  • एक होल्डिंग कंपनी और उसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के बीच लेन-देन आरंभ किया जाता है, जिनके खातों को ऐसी होल्डिंग कंपनी के साथ समेकित किया जाता है और अनुमोदन के लिए सामान्य बैठक में शेयरधारकों के सामने रखा जाता है।

उपरोक्त छूट के मद्देनजर, हमारे ग्रामीण बैंकों के साथ लेन-देन को इस रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स नीति की प्रयोज्यता से छूट दी गई है क्योंकि बैंक और ग्रामीण बैंक, कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 2 (45) के तहत सरकारी कंपनियों की परिभाषा के अंतर्गत आते हैं।

ऋण के संबंध में पूर्णकालिक निदेशक जो कि मुख्य प्रबंधकीय कार्मिक हैं, बैंक द्वारा भारतीय रिज़र्व बैंक के परिपत्र संख्या DBOD.No.Dir.BC.14 / 13.03.00 / 2013-14 दिनांक 01.07 .2013 में दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करेंगे। निदेशकों को अग्रिम के संबंध में। इस नीति के तहत इन लेनदेन के लिए कोई अनुमोदन प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं है। हालाँकि, वार्षिक रिपोर्ट में आवश्यक खुलासे किए जाएंगे। इस नीति के तहत उक्त लेनदेन के लिए कोई अनुमोदन प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं है। हालाँकि, वार्षिक रिपोर्ट में आवश्यक जानकारी प्रदर्शित किए जाएंगे।

top

संबंधित पार्टी के लेन-देन के लिए आवेदन :

सभी रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स (RPT) को बोर्ड की लेखा परीक्षा समिति (ACB) की पूर्व स्वीकृति की आवश्यकता होगी। हालाँकि, एसीबी संबंधित शर्तों के लिए संबंधित पक्ष के लेन-देन के लिए सर्वव्यापी अनुमोदन दे सकता है, जिसे निम्नलिखित शर्तों के अनुसार बैंक द्वारा प्रस्तुत किया जाना है:

  • लेखापरीक्षा समिति बैंक के संबंधित पक्ष लेन-देन पर नीति के अनुसार सर्वग्राही अनुमोदन प्रदान करने के लिए मानदंड रखेगी और इस तरह के अनुमोदन लेन-देन के संबंध में लागू होंगे जो स्वभाव से दोहराव वाले हैं।
  • Tलेखा परीक्षा समिति को इस तरह के सर्वव्यापी अनुमोदन की आवश्यकता को पूरा करना होगा और इस तरह की स्वीकृति बैंक के हित में है;
  • इस तरह के सर्वव्यापी अनुमोदन से संबंधित पार्टी का नाम / नाम, लेन-देन की प्रकृति, लेन-देन की अवधि, लेन-देन की अधिकतम राशि, जो दर्ज की जा सकती है, (ii) सांकेतिक आधार मूल्य / वर्तमान अनुबंधित मूल्य और के लिए सूत्र निर्दिष्ट करेगा मूल्य में भिन्नता यदि कोई हो और (iii) लेखा परीक्षा समिति फिट हो सकती है तो ऐसी अन्य शर्तें;
    बशर्ते कि संबंधित पार्टी लेन-देन की आवश्यकता का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है और पूर्वोक्त विवरण उपलब्ध नहीं हैं, लेखा परीक्षा समिति ऐसे लेनदेन के लिए सर्वव्यापी अनुमोदन दे सकती है, जो उनके मूल्य प्रति लेनदेन 1 करोड़ रुपये से अधिक नहीं हो।
  • लेखा परीक्षा समिति समीक्षा करेगी, कम से कम त्रैमासिक आधार पर, बैंक द्वारा दिए गए आरपीटी के विवरण को दिए गए प्रत्येक सर्वव्यापी अनुमोदन के अनुसार।
  • इस तरह के सर्वव्यापी अनुमोदन एक वर्ष से अधिक नहीं की अवधि के लिए मान्य होंगे और एक वर्ष की समाप्ति के बाद नए अनुमोदन की आवश्यकता होगी "

सभी सामग्री संबंधित पार्टी लेन-देन के लिए विशेष प्रस्ताव के माध्यम से शेयरधारकों की मंजूरी की आवश्यकता होगी और संबंधित पक्ष ऐसे प्रस्तावों पर मतदान करने से परहेज करेंगे। संबंधित संस्थाओं की परिभाषा के तहत आने वाली सभी संस्थाएं इस बात पर ध्यान दिए बिना मतदान करने से परहेज करेंगी कि इकाई विशेष लेनदेन के लिए एक पार्टी है या नहीं।

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की मंजूरी लेने की प्रक्रिया

प्रधान कार्यालय स्तर पर बोर्ड सचिवालय को रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स संबंधी विस्तृत सूचना देने की जिम्मेदारी मुख्य प्रबंधकीय कार्मिक की है। संबंधित पार्टी के लेन-देन से संबंधित संबंधित कार्यालय / शाखा, हेड ऑफिस में बोर्ड सचिवालय को भी विवरण / ड्राफ्ट अनुबंध / ड्राफ्ट समझौते या अन्य सहायक दस्तावेजों के साथ प्रस्तावित लेनदेन का विवरण प्रस्तुत करेगा, उक्त दस्तावेजों के साथ प्रस्तावित लेनदेन का विवरण यह दर्शाता है कि लेनदेन साधारण व्यवासाय में प्रचलित ब्याज दर पर “ आर्म लेंथ बेसिस “ पर है।

इस आधार पर बोर्ड सचिवालय अगली बैठक में इसे उचित प्रकार से प्रस्तुत करेगा जिससे लेखा परीक्षा समिति से आवश्यक पूर्व अनुमोदन प्राप्त हो सके और प्रवर्तक को निर्णय से अवगत कराया जा सके। बोर्ड सचिवालय सभी अनुबंधों या व्यवस्थाओं के विवरण को रिकॉर्ड बनाए रखेगा जिसे बोर्ड की अगली बैठक के सम्मुख रखा जाएगा।

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की समीक्षा और अनुमोदन

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स को समीक्षा और अनुमोदन के लिए ऑडिट समिति की अगली नियमित रूप से निर्धारित बैठक में भेजा जाएगा।किसी भी संबंधित पार्टी लेन-देन में संभावित रुचि रखने वाला / वाली समिति का कोई भी सदस्य स्वयं को अलग कर लेगा और रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स के अनुमोदन पर चर्चा और मतदान से परहेज करेगा।

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की समीक्षा करने के लिए, समिति को रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की सभी योग्य सामग्री की जानकारी प्रदान की जाएगी, जिसमें लेनदेन की शर्तें, लेन-देन का व्यवसाय उद्देश्य, बैंक और संबंधित पार्टी को लाभ, और अन्य प्रासंगिक मामले आदि सम्मिलित हैं।

यदि समिति यह निर्धारित करती है कि बोर्ड के समक्ष किसी रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स को लाया जाए या यदि बोर्ड इस तरह के किसी भी मामले की समीक्षा करने का निर्णय लेता है या बोर्ड के लिए किसी विधि के अंतर्गत रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स को मंजूरी देना अनिवार्य है, ऐसी स्थिति में उक्त उल्लेखित विचार बोर्ड द्वारा मामले की समीक्षा और अनुमोदन के लिए लागू होंगे, साथ ही परिस्थितियों के अनुसार आवश्यकएवं उपयुक्त संशोधन किए जा सकते हैं।

पूर्वगामी होते हुए भी रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स को ऑडिट कमेटी या शेयरधारकों की मंजूरी की आवश्यकता नहीं होगी।

  • किसी निदेशक या प्रमुख प्रबंधकीय कार्मिक को बैंक या उसके सब्सिडरी या एसोसियेट के प्रति अपने कार्य निष्पादन हेतु किसी लेन देन के अंतर्गत मुआवजा प्रदान करना शामिल है जिसमें सामान्य रूप से उचित व्यवसाय और यात्रा व्यय की प्रतिपूर्ति शामिल है।
  • कोई भी लेन-देन जिसमें संबंधित पक्ष का हित बैंक द्वारा जारी की गई प्रतिभूतियों के स्वामित्व से उत्पन्न होता है और ऐसी प्रतिभूतियों के सभी धारकों को संबंधित पक्ष के समान लाभ प्राप्त होता है।
  • संबंधित पक्षों द्वारा किसी बैंक में अपनी जमा राशि पर बैंक द्वारा दिए गए ब्याज के भुगतान से संबंधित कोई भी लेन-देन, उस दर से अधिक नहीं जो बैंक के कर्मचारियों के लिए पात्र थी।

top

लेखांकन मानक 18 के पैराग्राफ 5 के संदर्भ में, डिस्क्लोजर उन परिस्थितियों में लागू नहीं होती हैं जब ऐसी रिपोर्टिंग प्रदान करना बैंक की गोपनीयता को हानि पहुंचाए विशेषत: नियामक या समान सक्षम प्राधिकारी द्वारा जैसा भी विधि संगत हो । लेखा मानक 18 के पैरा 6 के संदर्भ में, विधि आरबीआई या सक्षम प्राधिकारी, जो बैंक को नियंत्रित करता है, बैंक को कुछ जानकारी का प्रदान करने से रोकता है जिसे दिए जाने की अवश्यकता है, लेखा मानक 18 के अनुसार उक्त जानकारी को प्रदान न किया जाना गैर अनुपालन की श्रेणी में नहीं रखा जाएगा।
उपरोक्त के संदर्भ में यह स्पष्ट है कि बैंक ग्राहकों के लेन-देन के संबंध में गोपनीयता बनाए रखने के लिए कानून द्वारा बाध्य है और लेखा मानक 18 ग्राहकों के लेनदेन की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए बैंक के दायित्व को रद्द नहीं करेगा।

सूचीकरण समझौते की धारा 49 VIII की आवश्यकताओं के अनुसरण में बैंक द्वारा तिमाही आधार पर स्टॉक एक्सचेंज को कॉरपोरेट गवरनेंस संबंधी अनुपालन रिपोर्ट के साथ ही संबंधित पक्षों के साथ सभी मटीरियल ट्रांजेक्शन का विवरण देना आवश्यक है।
भारतीय रिजर्व बैंक के मास्टर परिपत्र Master Circular No. DBOD.BP.BC No.8/21.04.018/2014-15 dated July 1, 2014 के अनुसार वित्तीय विवरण संबंधी डिस्क्लोजर – नोट्स टू अकांउट्स, ने वित्तीय विवरणों को 'नोट्स टू एकाउंट्स' डिस्क्लोजर के मामले में बैंकों को विस्तृत मार्गदर्शन प्रदान किया है।

लेखा मानक 18 जो कि पार्टी डिस्कलोजर से संबंधित है, रिपोर्टिंग उद्यम और उसके संबंधित पक्षों के बीच संबंधित पार्टी और लेनदेन की रिपोर्टिंग के लिए लागू होता है।
आरबीआई द्वारा AS 18 हेतु निर्धारित इल्युस्ट्रेटिव डिस्क्लोजर अनुलग्नक – 1 के रूप में संलग्न है। डिस्क्लोजर उक्त नीति के अनुसार किया जाएगा।

यदि बैंक को संबंधित पॉलिसी से संबंधित पार्टी लेन-देन के बारे में पता चल जाता है, जिसे इस पॉलिसी के अंतर्गत अनुमोदित नहीं किया गया है, उस स्थिति में समिति द्वारा मामले की समीक्षा की जाएगी। समिति संबंधित पक्ष के लेन-देन के संबंध में सभी प्रासंगिक तथ्यों और परिस्थितियों पर विचार करेगी और संबंधित पक्ष के लेन-देन के अनुसमर्थन, संशोधन या समाप्ति सहित बैंक के लिए उपलब्ध सभी विकल्पों का मूल्यांकन करेगी। समिति इस नीति के अंतर्गत इस तरह के रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की रिपोर्टिंग करने में विफलता से संबंधित तथ्यों और परिस्थितियों की भी जांच करेगी और ऐसा कोई भी कदम उठाएगा, जो उचित हो।

किसी भी मामले में, जहां समिति किसी ऐसे रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स जिसका पूर्व अनुमोदन नहीं किया गया है, कि पुष्टि न करने का निर्णय लेती है तब समिति उपरोक्तानुसार अतिरिक्त कार्रवाई को निर्देशित कर सकती है किंतु यह लेन-देन की छूट या बचाव तक सीमित नहीं है।

रिलेटेड पार्टी ट्रांजेक्शन्स की किसी भी समीक्षा के संबंध में, लेखा परीक्षा समिति के पास इस नीति की किसी भी कार्यविधि को संशोधित करने या हटाने का अंतिम अधिकार है।

इस नीति के संबंध में बैंक के सभी कार्यालयों और शाखाओं को सूचित किया जाएगा और उसी की एक प्रति बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई जाएगी।

संबंधित पार्टी प्रकटीकरण के लिए प्रारूप - अनुबंध -1

top

यूको में नया-नया :
यूको बैंक ने 2020-21 के लिए लेखा परीक्षकों के रूप में अनुबन्धन के लिए आवेदन आमंत्रित किया है। | आईबीए में 'सीईओ-पीएसबी एलायंस (अनुबंध पर)' की भर्ती | COVID-19 से प्रभावित ऋणकर्ताओँ से अनुरोध है कि अपने ऋण की रिस्ट्रक्चरिंग के माध्यम से राहत हेतु सम्बन्धित युको बैंक शाखा से सम्पर्क करेंं। | निविदा दिनांक 15.06.2020 की रद्द | एनपीएस सब्सक्राइबर पंजीकरण | एनपीएस सबसेंटर कंट्रीब्यूशन | वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए IBPS, मुंबई द्वारा CRP-PO-IX में चयनित उम्मीदवारों की अनंतिम चयन सूची जारी | वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए IBPS, मुंबई द्वारा CRP-Clerk-IX में चयनित उम्मीदवारों की अनंतिम चयन सूची जारी | वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए IBPS, मुंबई द्वारा CRP-PO-VIII (रिज़र्व लिस्ट) में चयनित उम्मीदवारों की अनंतिम चयन सूची जारी | 2018-20 के लिए IBPS, मुंबई द्वारा CRP-Clerk-VIII (रिज़र्व लिस्ट) में चयनित उम्मीदवारों की अनंतिम चयन सूची जारी | यूको बैंक डीमैट ग्राहकों के लिए ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग सुविधा का कार्यान्वयन | | बिल, प्रेषण, जमा, लॉकर पर सेवा शुल्क सहित GST @ 18% w.e.f 01.08.2017 | COVID-19 के प्रकाश में PRADHAN MANTRI GARIB KALYAN पैकेज |
© 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित