UCO Bank

विदेशी मुद्रा ऋण

क) भारत में (विदेशी मुद्रा अनिवासी “बी” ऋण) :

भारतीय रिजर्व बैंक की अनुमति के रूप भारत में विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में ऋण, विदेशी मुद्रा अनिवासी (बी) जमा इत्यादि खातों में बैंक की विदेशी मुद्रानिधियों के भंडार से स्वीकृत किए जाते हैं |

यूको बैंक के पास अनिवासी भारतीय ग्राहकों / जमाकर्ताओं का व्यापक आधार है | इसलिए यूको बैंक भारत में अपने ग्राहकों को विदेशी मुद्रा अनिवासी (बी) जमाराशियों इत्यादि के संसाधन-आधार से रूपये में विकल्प में विदेशी मुद्रा में ऋण मुहैया कराने की स्थिति में है |

ये ऋण यूएस डॉलर जैसे विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में होते हैं और अल्पावधि ऋण के रूप में दिए जाते हैं | इन पर लंदन अंतर-बैंक प्रस्तावित दर (एल.आई.बी.ओ.आर) पर यथोचित व्याप्ति के साथ ब्याज निर्धारित किया जाता है |

यूको बैंक भारतीय शाखाओं में मौजूद अनिवासी भारतीयों की उनकी एफ.सी.एन.आर (बी) जमाराशियों के एवज में उनको भी विदेशी मुद्रा में भी ऋण देता है | इसका ब्योरा एन.आर.आई बैंकिंग खण्ड में उपलब्ध है |

ख) भारत से बाहर

विश्व के दो प्रमुख वित्तीय केंद्रों में अपनी उपस्थिति से यूको बैंक के पास भारतीय के साथ ही बहुराष्ट्रीय कंपनियों के लिए भी प्रतिस्पर्धी दरों पर विदेशी मुद्रा ऋण का इंतजाम करने / मंजूरी देने के लिए विदेशी मुद्रा के संसाधन हैं |

भारत सरकार / भारतीय रिजर्व बैंक की बाह्य वाणिज्यिक उधार (ई.सी.बी) नीति के अनुसार हमारी विदेशी शाखाओं द्वारा भारतीय कंपनियों को विदेशी मुद्रा मूल्यवर्ग में ऋण मंजूर किए जाते हैं |

top

यूको में नया-नया :
No records available
© 2016 सर्वाधिकार सुरक्षित